कांग्रेस प्रेसिडेंट राहुल गांधी ने पार की सभी हदे, सीधे ही साध...

कांग्रेस प्रेसिडेंट राहुल गांधी ने पार की सभी हदे, सीधे ही साध दिया पीएम मोदी पर निशाना।

8
0
SHARE

कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर राफेल लड़ाकू विमान की डील को लेकर बड़ा आरोप लगाया है।

कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर राफेल लड़ाकू विमान की डील को लेकर बड़ा आरोप लगाया है।

राहुल गांधी ने कहा कि मैं सालभर से कह रहा हूं कि पीएम मोदी खुद राफेल घोटाले में शामिल हैं। आज हिंदू में यह बात छपी है। पीएम मोदी ने एयरफोर्स का 30 हजार करोड़ रुपये अनिल अंबानी की जेब में डाल दिया।

रक्षा मंत्रालय से स्पष्ट हुआ है कि नरेंद्र मोदी जी मेरे पास आए और बोले कि अनिल अंबानी को कॉन्ट्रैक्ट मिलना है और एचएएल को खारिज करना है।

वायुसेना, रक्षा मंत्रालय के लोग कहते हैं कि प्रधानमंत्री फ्रांस से सीधे बातचीत कर रहे हैं। ऑलैंद जी ने जो बात कही थी कि पीएम ने कहा था कि अनिल अंबानी को कॉन्ट्रैक्ट मिलना चाहिए।

दरअसल, अंग्रेजी अखबार ‘द हिंदू’ ने खुलासा किया है कि फ्रांस सरकार के साथ राफेल डील को लेकर रक्षा मंत्रालय की ओर से की जा रही डील के दौरान प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के दखल का फायदा फ्रांस को मिला था।

पीएमओ की इस दखल का रक्षा मंत्रालय ने विरोध भी किया था। अब इसी मीडिया रिपोर्ट के आधार पर कांग्रेस ने फिर मोदी सरकार पर निशाना साध रही है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीधे तौर इसमें हस्तक्षेप किया था।

मनोहर पर्रिकर को लेकर किए गए सवाल पर राहुल गांधी ने कहा, ‘देखिए, मेरी पर्रिकर जी से मुलाकात के दौरान राफेल डील से जुड़ी कोई बातचीत नहीं हुई।

इसके बाद मैंने उनको एक पत्र भी लिखा था, जिसमें मैंने यह साफ कर दिया था कि मेरी उनसे राफेल को लेकर कोई बात नहीं हुई।’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर आरोप लगाया था कि उन्‍होंने जवानों को बुलेट प्रूफ जैकेट उपलब्‍ध नहीं कराई। इस पर राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार जवानों को एक बुलेट प्रूफ जैकेट देती है और अनिल अंबानी को तीस हजार करोड़ रुपये। नरेंद्र मोदी ने कल लंबा भाषण दिया, मगर इस बार में क्यों नहीं बोलते।

अब डिफेंस मिनिस्ट्री भी कह रहा है कि प्रधानमंत्री पैरेलल नेगोसिएशन कर रहे हैं। रक्षा मंत्रालय कह रहा है कि प्रधानमंत्री पैरेलल बातचीत कर रहे हैं तो फिर इस पर वह क्यों नहीं जवाब देते हैं। राफेल मामले में पीएमओ की फ्रांस से समांतर बातचीत चल रही है।

रॉबर्ट वाड्रा के जुड़े सवाल पर राहुल ने कहा कि सरकार को जितनी जांच कराना चाहती है करे, आप चिदंबरम या वाड्रा पर जांच करिए, मगर आप राफेल पर भी जवाब दीजिए।