चुनावी घमासान : फिर भड़की बहन कुमारी मायावती, कहा कांग्रेस – भाजपा...

चुनावी घमासान : फिर भड़की बहन कुमारी मायावती, कहा कांग्रेस – भाजपा कर रही है साठगांठ।

12
0
SHARE

राहुल के बयान से भड़कीं मायावती, कहा- कांग्रेस ने भाजपा की मदद के लिए प्रत्याशी उतारे

बसपा अध्यक्ष मायावती ने गुरुवार को विज्ञप्ति जारी कर बाराबंकी की चुनावी सभा में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा दिए गए बयान पर पलटवार किया।

कांग्रेस व भाजपा अंदर ही अंदर मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ रही हैं। कांग्रेस के लोग यह कह रहे हैं कि चाहे भाजपा के उम्मीदवार भले ही जीत जाएं लेकिन, सपा-बसपा गठबंधन के प्रत्याशी नहीं जीतने चाहिए। कांग्रेस द्वारा ज्यादातर सीटों पर ऐसे उम्मीदवार उतारे गए जो भाजपा को फायदा पहुंचाएं।

यह आरोप बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने गुरुवार को जारी विज्ञप्ति में लगाते हुए गत दिवस बाराबंकी की चुनावी सभा में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा दिए गए बयान पर पलटवार भी किया। राहुल गांधी ने कहा था कि सपा और बसपा का कंट्रोल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथ में है।

राहुल के बयान से नाराज बसपा प्रमुख ने कांग्रेस व भाजपा को एक ही थैली के चट्टे-बट्टे कहा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस भी सपा-बसपा गठबंधन के बारे में भाजपा की तरह अनाप शनाप भाषा बोलने लगी है।

इसी से स्पष्ट हो जाता है कि गठबंधन के खिलाफ दोनों पार्टियां मिल कर लड़ रही हैं। कांग्रेस से बेहद नाराज मायावती ने कांग्रेस को वोट देकर अपना वोट खराब न करने की सलाह भी दे डाली। उनका कहना था कि कांग्रेस को वोट देने का मतलब भाजपा को फायदा पहुंचाना है।

उन्होंने बसपा का रिश्ता बाबा साहब भीमराव आंबेडकर से जोड़ते हुए उनकी स्मृति में बसपा शासनकाल में किये गए कार्यों को गिनाया। साथ ही भाजपा को हिदायत दी कि कांग्रेस की तरह नकली आंबेडकरवादी बनने की कोशिश न करें।

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि पांच सालों तक पाकिस्तान के खिलाफ खामोश रहे और अब चुनाव के समय बहादुरी दिखाने की कोशिश कर रहे हैं।

भाजपा भूल गई कि उन्होंने ही मसूद अजहर को जेल से बाहर कर विदेश भेजा और अब चुनाव के समय उसी के नाम पर वोट मांगा जा रहा है।

मुलायम का बचाव किया, कहा- मोदी को आशीर्वाद देने की मंशा न थी।

मायावती ने सपा संरक्षक मुलायम सिंह द्वारा संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आशीर्वाद देने पर उनका बचाव किया। बसपा सुप्रीमो ने कहा कि यह पूरा देश जानता है मुलायम कहना कुछ और चाहते थे लेकिन, कह दिया कुछ और। मुलायम की मोदी को आशीर्वाद देने की कोई मंशा नहीं रही। साथ ही मायावती ने संसद में राहुल गांधी द्वारा नरेंद्र मोदी के गले मिलने पर भी सवाल उठाया।