पाकिस्तान के खिलाफ फूटा भारतीयों का गुस्सा, देशभर में आक्रोश।

पाकिस्तान के खिलाफ फूटा भारतीयों का गुस्सा, देशभर में आक्रोश।

11
0
SHARE

ICC World Cup 2019 में भारत-पाक भिडंत को लेकर फैंस के मूड को भापने के लिए दैनिक जागरण ने ट्विटर पर पोल कराया।

Pulwama Terror Attack के बाद से पाकिस्तान (Pakistan) को लेकर देश में गुस्सा है। ऐसे में पूरे देश से पाकिस्तान को अलग-थलग करने की मांग उठ रही है।

यही नहीं इस साल इंग्लैंड में होने वाले क्रिकेट विश्व कप (ICC Cricket World Cup 2019) में भी पाकिस्तान के साथ होने वाले भिड़ंत का बहिष्कार करने की बात चल रही है। यह मुकाबला 16 जून को खेला जाना है।

इसे लेकर क्रिकेट जगत बंटा दिखाई दे रहा है। भारत के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर और सचिन तेंदुलकर मैच खेलने की बात कर रहे हैं, तो वहीं ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह और पूर्व कप्तान सौरव गांगुली इस मैच को न खेलने की बात कर रहे हैं।

इन दिग्गजों की बात तो हर कोई सुन रहा है, लेकिन इस भिड़ंत को लेकर क्रिकेट फैंस का क्या मूड है यह कैसे पता किया जाए! फैंस के मूड को भापने के लिए दैनिक जागरण ने ट्विटर पर एक पोल कराया।

पुलवामा हमले के बाद देश में गुस्सा है। मांग उठ रही है कि क्रिकेट विश्वकप 2019 में पाकिस्तान के साथ मैच न खेला जाए। इस पर हर कोई अपनी राय दे रहा है, आप इस बारे में क्या सोचते हैं?) सवाल किया गया और जवाब देने के लिए चार ऑप्शन दिए गए। वो चार ऑप्शन ये थे।

पाकिस्तान के साथ न खेलें
मैच खेलना चाहिए
पाकिस्तान को बैन करा दें
वर्ल्ड कप ही न खेलें

पुलवामा हमले के बाद देश में गुस्सा है। मांग उठ रही है कि क्रिकेट विश्वकप 2019 में पाकिस्तान के साथ मैच न खेला जाए। इस पर हर कोई अपनी राय दे रहा है, आप इस बारे में क्या सोचते हैं?

30%पाकिस्तान के साथ न खेलें
17%मैच खेलना चाहिए
47%पाकिस्तान को बैन करा दें
6%वर्ल्ड कप ही न खेलें

पाकिस्तान को बैन करा दें को सबसे ज्यादा वोट
पोल में शामिल होने के साथ ही लोगों ने हमारे पोल पर अपनी राय भी साझा की।

इसमें सबसे ज्यादा 47% वोट (option C) पाकिस्तान को बैन करा दें को मिला। 47 फीसद लोग चाहते हैं कि पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट जगत से बैन करा दिया जाए, ताकि वो विश्व कप में हिस्सा न ले सके।

बता दें कि बीसीसीआइ पहले ही आइसीसी को पत्र लिखकर विश्व कप में पाकिस्तान को प्रतिबंधित करने की मांग कर चुका है।

हालांकि, 27 फरवरी को आइसीसी की सालाना बैठक में इसे लेकर विशेष चर्चा की जाएगी। लेकिन आइसीसी से पाकिस्तान को बैन करने की संभावना काफी कम है। दरअसल, संवैधानिक या अनुबंध के जरिए पाकिस्तान को विश्व कप से बाहर करने का कोई तरीका नहीं है।

अगर आइसीसी इसे वोटिंग के लिए सदस्य बोर्ड के समक्ष रखने को राजी हो जाता है, तो कुछ बात बन सकती है, लेकिन बीसीसीआइ को अन्य देशों से समर्थन मिलने की संभावना बेहद कम है।

इस पोल में पाकिस्तान के साथ न खेलें (Option A) को 30% वोट मिला। पोल के अनुसार लगभग 777 लोग चाहते हैं कि भारत विश्व कप में खेलें, लेकिन पाक से न खेलें।

ग्रुप स्टेज में न खेलने से तो ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा, क्योंकि इस बार विश्व कप Round-Robbin Format में होना है।

हर टीम 9 मैच खेलेगी, लेकिन समस्या यह खड़ी हो जाती है कि अगर सेमीफाइनल या फाइनल में दोनों टीमें आमने-सामने हो जाएं तो क्या फैसला होगा।

मैच न खेलने की स्थिति में पाकिस्तान की टीम कुछ किये बगैर वो कर जाएगी जो 1992 में इमरान खान विश्व कप जीतकर भी न कर सके थे, यानि भारत विश्वकप में पहली बार पाकिस्तान से हार जाएगा और वह भी बिना खेले।

इस पोल में पाकिस्तान के साथ मैच खेलना चाहिए (Option B) को 17% वोट मिला। इसके अनुसार लगभग 440 लोग चाहते हैं कि पाकिस्तान के साथ मैच खेला जाना चाहिए। ये लोग भारत के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर और सचिन तेंदुलकर की श्रेणी में आते हैं।

बता दें कि उन्होंने कहा था कि हम उनके साथ ना खेलकर गलती करेंगे और उन्हें दो अंक मुफ्त में मिल जाएंगे, जो विश्व कप खिताब जीतने के अभियान के लिए घातक हो सकता है। गावस्कर की भी राय यही है। देश में जो माहौल है उसके चलते सचिन सोशल मीडिया पर ट्रोल भी हो गए।

इस पोल में सबसे कम वर्ल्ड कप ही न खेलें (Option D) को 6% वोट मिले। अगर बीसीसीआइ यह रास्ता चुनती है तो पाकिस्तान के बजाय भारत खुद ही अलग-थलग पड़ जाएगा। इसका एक उदाहरण Shooting world Cup है।

इसमें पाकिस्तान शूटरों को भाग लेने के लिए वीजा नहीं मिला और IOC (अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति) ने भारत को भविष्य में देश में आयोजित होने वाले किसी भी ओलंपिक और खेल प्रतियोगिताओं की मेजबानी से अलग कर दिया है।

भारत को साल 2021 में ICC Champions Trophy और ICC Cricket World Cup 2023 की मेजबानी करनी है।

अगर भारत वर्ल्ड कप नहीं खेलता है तो इन दोनों टूर्नामेंट की मेजबानी भी गंवा सकता है। बता दें कि 2023 में यह पहली बार होगा कि भारत अकेले वर्ल्ड कप की मेजबानी करेगा। दैनिक जागरण डिजिटल के इस पोल में 2,591 लोगों ने हिस्सा लिया।