बड़ी ख़बर – पीएम मोदी ने देश में अनलॉक 2.0 के दिए...

बड़ी ख़बर – पीएम मोदी ने देश में अनलॉक 2.0 के दिए संकेत।

26
0
SHARE

बड़ी ख़बर – पीएम मोदी ने देश में अनलॉक 2.0 के दिए संकेत।

दूसरे दिन राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अनलॉक-1 को लेकर चर्चा की. इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि मौजूदा टेस्टिंग क्षमता का पूरा उपयोग किया जाना चाहिए।

लॉकडाउन की अफवाहों को दरकिनार कर अनलॉक-2 की योजना बनाएं राज्य: PM मोदी
  • देश में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 3.5 लाख के पार
  • पीएम नरेंद्र मोदी ने की मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक

देश में कोरोना वायरस के संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 3.5 लाख के पार हो चुका है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लगातार दूसरे दिन तमाम राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की है। इस बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि अब लॉकडाउन की अफवाहों से लड़ने और अनलॉक 2.0 की योजना बनाने की आवश्यकता है।

दूसरे दिन राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अनलॉक-1 को लेकर चर्चा की। इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि मौजूदा टेस्टिंग क्षमता का पूरा उपयोग किया जाना चाहिए। साथ ही इसे बढ़ाए जाने का प्रयास भी लगातार किया जाना चाहिए।

वहीं कुछ ऐसी भी अफवाहें हैं कि देश में बढ़ रहे कोरोना मामलों के कारण फिर से लॉकडाउन लागू किया जा सकता है। हालांकि इसको लेकर पीएम मोदी ने कहा कि अब लॉकडाउन की अफवाहों से लड़ने और अनलॉक 2.0 की योजना बनाने की जरूरत है। पीएम मोदी ने कहा कि वायरस का फैलाव बड़े राज्यों और शहरों में ज्यादा है।

मोदी ने इस बैठक में आर्थिक गतिविधियों में तेजी लाए जाने की बात कही। पीएम मोदी ने कहा कि राज्य बुनियादी ढांचे और निर्माण संबंधी कार्यों को बढ़ावा देने के लिए कदम उठाएं। साथ ही पीएम ने कहा कि राज्य आने वाले महीनों में प्रवासी मजदूरों के सामने आने वाली चुनौतियों से निपटने के लिए कदम उठाएं।

मुख्यमंत्रियों ने क्या कहा?

वहीं इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में शामिल मुख्यमंत्रियों ने पीएम मोदी को राज्यों की जमीनी स्थिति और वायरस के प्रभाव से निपटने के लिए उनकी तैयारियों के बारे में जानकारी दी। इसके साथ ही मुख्यमंत्रियों ने स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे और उनकी मजबूती के लिए उठाए गए कदमों के बारे में भी बताया। इसके साथ ही मुख्यमंत्रियों ने टेस्टिंग में बढ़ोतरी और वापस आए प्रवासियों को रोजगार के अवसर प्रदान करने पर भी जोर देने की बात कही।