मतगणना को लेकर हरियाणा के जींद में हुआ बवाल।

मतगणना को लेकर हरियाणा के जींद में हुआ बवाल।

26
0
SHARE

छह राउंड मतों की गिनती पूरी होने के बाद भाजपा के कृष्ण मिड्ढा करीब दस हजार हजार मतों से आगे चल रहे हैं। जननायक जनता पार्टी के उम्मीदवार दिग्विजय सिंह चौटाला दूसरे नंबर पर हैं।

जाटलैंड जींद का सिकंदर कौन होगा, इसका पता आज दोपहर बारह बजे तक चल जाएगा। ग्रामीण क्षेत्र के बूथों की मतगणना के दौरान प्रारंभिक रुझानों में जननायक जनता पार्टी के उम्मीदवार दिग्विजय चौटाला आगे चल रहे थे, लेकिन शहरी क्षेत्रों के बूथों की मतगणना शुरू होने के बाद भाजपा प्रत्याशी कृष्ण मिड्ढा ने लीड लेनी शुरू कर दी।

वहीं, छठवें राउंड में ईवीएम मशीन के नंबर मिसमैच होने के आरोप लगे। इसके बाद वहां हंगामा मच गया। इससे मतगणना का कार्य कुछ देर के लिए रुका रहा। जेजेपी ने भी छठे राउंड की गिनती दोबारा करने की मांग की।

हंगामे को देखते हुए जींद प्रशासन ने अतिरिक्त सुरक्षा बल को बुला लिया। 2 बसे व एसपी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने ईवीएम पर हंगामा कर रहे लोगों पर जमकर लाठियां भांजी।

नौवें राउंड के मतों की गिनती पूरी होने के बाद भाजपा के कृष्ण मिड्ढा 12236 से आगे चल रहे हैं। जननायक जनता पार्टी के उम्मीदवार दिग्विजय सिंह चौटाला दूसरे नंबर पर और कांग्रेस के रणदीप सिंह सुरजेवाला तीसरे स्थान पर टिके हुए हैं। मतगणना केंद्र के बाहर एक बड़ी एलईडी भी लगाई गई है, ताकि समर्थकों को सारी जानकारी मिलती रहे।

पहले राउंड की गिनती का रिजल्ट

दिग्विजय चौटाला जेजेपी 3639
डॉ. कृष्ण मिढ़ा भाजपा 2835
रणदीप सुरजेवाला कांग्रेस 2169
उमेद रेढू इनलो 992
विनोद आसरी लोसपा 705
नोटा 17
दूसरे राउंड की गिनती का रिजल्ट

दिग्विजय चौटाला जेजेपी 4253
कृष्ण मिड्ढा भाजपा 3719
रणदीप सुरजेवाला कांग्रेस 1754
लोसपा 1053
उम्मेद सिंह रेढू इनेलो 373
नोटा 25
तीसरे राउंड की गिनती का रिजल्ट

दिग्विजय चौटाला जेजेपी 3334
कृष्ण मिड्ढा भाजपा 2796
रणदीप सुरजेवाला कांग्रेस 1890
चौथे राउंड की गिनती का रिजल्ट

कृष्ण मिड्ढा भाजपा 6131
दिग्विजय चौटाला जेजेपी 2217
रणदीप सुरजेवाला कांग्रेस 1801
पांचवें राउंड की गिनती का रिजल्ट

कृष्ण मिड्ढा भाजपा 5571
दिग्विजय चौटाला जेजेपी 1872
रणदीप सुरजेवाला कांग्रेस 1199

छठे राउंड की गिनती का रिजल्ट

कृष्ण मिड्ढा भाजपा 5360
दिग्विजय चौटाला जेजेपी 1057
रणदीप सुरजेवाला कांग्रेस 1225
सातवें राउंड की गिनती का रिजल्ट

कृष्ण मिड्ढा भाजपा 2399
दिग्विजय चौटाला जेजेपी 3109
रणदीप सुरजेवाला कांग्रेस 1509
आठवें राउंड की गिनती का रिजल्ट

कृष्ण मिड्ढा भाजपा 3369
दिग्विजय चौटाला जेजेपी 3467
रणदीप सुरजेवाला कांग्रेस 2086
नौवें राउंड की गिनती का रिजल्ट

कृष्ण मिड्ढा भाजपा 5381
दिग्विजय चौटाला जेजेपी 2455
रणदीप सुरजेवाला कांग्रेस 2043
अभी तक कुल मत

कृष्ण मिड्ढा भाजपा – 32180
दिग्विजय चौटाला जेजेपी – 22870
रणदीप सुरजेवाला कांग्रेस – 13733
शर्मा ने कहा, मैंने हुड्डा को पहले ही कहा था उनका कांटा निकल गया

जींद उपचुनाव पर भाजपा के वरिष्ठ नेता और शिक्षा मंत्री रामविलास शर्मा का कहना है कि उन्होंने इस उपचुनाव के परिणाम नामांकन के समय ही बता दिए थे। उन्होंने याद दिलाया कि नामांकन के बाद जब उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा से यह कहा था कि उनका कांटा निकल गया तब ही यह स्पष्ट हो गया था कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की मूंछ के बाल के रूप में काम कर रहे रणदीप सुरजेवाला तीसरे स्थान पर आएंगे।

उन्होंने कहा कि अभय सिंह चौटाला ने जिस तरह दबाव बनाकर पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला और उनकी पत्नी स्नेहलता का बयान जारी करवाया उसी का परिणाम है कि उनके उम्मीदवार को इतने कम वोट मिल रहे हैं।

पहले राउंड में गांव रायचंदवाला से शुरू होकर 13वें राउंड में गांव इक्कस में मतगणना पूरी होगी। हर राउंड में 14 बूथ शामिल हैं, जबकि अंतिम राउंड में केवल 6 बूथों की गिनती होगी।

मतदान केंद्र के अंदर 14 काउंटिंग एजेंट व प्रत्याशी को ही जाने की इजाजत है। सुरक्षा की दृष्टि से स्टेडियम की तरफ जाने वाले सभी रास्ते बंद किए गए हैं।

जींद में तमाम राजनीतिक दलों के योद्धा अपनी-अपनी जीत का दावा कर रहे हैं, लेकिन यहां के मतदाताओं का फरमान किसके हक में होगा, इसका पता आज दोपहर बारह बजे से पहले चल जाएगा।

इनेलो के टिकट पर दो बार विधायक रह चुके डा. हरिचंद मिड्ढा के देहावसान के चलते जींद में उपचुनाव हुआ है। प्रदेश की राजनीतिक राजधानी माने जाने वाले जींद उपचुनाव के नतीजे सभी दलों के लिए आइना होंगे।

इन नतीजों से सबक लेकर राजनीतिक दलों को न केवल अपनी रणनीति में बदलाव करना पड़ सकता है, बल्कि लोकसभा चुनाव के लिए नई पैंतरेबाजी अपनानी पड़ सकती है।

जींद को जाटलैंड माना जाता है। इसके बावजूद 1972 के बाद से यहां कभी जाट उम्मीदवार चुनाव नहीं जीत सका। यह भी हकीकत है कि इनेलो व कांग्रेस के गढ़ रह चुके जींद में भाजपा भी कभी कमल का फूल नहीं खिला सकी। इसके बावजूद इस बार के हालात कुछ हटकर हैं।

जींद में इस बार 76 फीसदी मतदान हुआ है। शहर के साथ-साथ ग्रामीण मतदाताओं खासकर महिलाओं ने भी इस बार मतदान में खासी रुचि दिखाई।

जींद उपचुनाव के नतीजे न केवल मुख्यमंत्री मनोहर लाल की प्रतिष्ठा से जुड़े होंगे, बल्कि पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला की राजनीतिक विरासत का फैसला भी करेंगे।

कांग्रेस को इस बार सत्ता में वापसी की आस है। इसलिए पार्टी ने अपने कद्दावर नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला पर दांव खेला है। जींद के चुनाव नतीजे कांग्रेस की सत्ता में वापसी की आस को लेकर स्थिति साफ करेंगे।

उपचुनाव अमूमन सत्ता का माना जाता है, लेकिन इनेलो की कोख से निकली जननायक जनता पार्टी के दिग्विजय सिंह चौटाला, कांग्रेस के रणदीप सिंह सुरजेवाला और भाजपा सांसद राजकुमार सैनी की लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी के विनोद आश्री ने जिस तरह से यह चुनाव लड़ा, उसे देखकर कुछ भी दावा करना बाकी उम्मीदवारों के साथ न्यायसंगत नहीं होगा।

भाजपा ने दिवंगत इनेलो विधायक डा. हरिचंद मिड्ढा के बेटे डा. कृष्ण मिड्ढा पर दांव खेला है। मिड्ढा को इलेक्शन पूरी भाजपा सरकार और पार्टी संगठन ने मिलकर लड़वाया। मनोहर सरकार उनकी जीत के प्रति पूरी तरह से आश्वास्त है।

चुनाव नतीजे यदि कांग्रेस के हक में आते हैं तो पार्टी को बड़ा एनर्जी बूस्ट मिलेगा। इसके अलावा दिग्विजय के चुनाव नतीजों पर पूरे प्रदेश की निगाह है।

जींद कभी ओमप्रकाश चौटाला का गढ़ रहा है। बुरे वक्त में पार्टी को खड़ा करने वाले अभय सिंह चौटाला ने इनेलो से उम्मेद सिंह रेढू को चुनाव लड़वाया, लेकिन जननायक जनता पार्टी ने अभय चौटाला के उम्मीदवार का सारा खेल बिगाड़कर रख दिया।

जींद के रण में यदि भाजपा के कृष्ण मिड्ढा को यदि कुछ मुश्किल पेश आई तो कुरुक्षेत्र के भाजपा सांसद राजकुमार सैनी का इसमें बड़ा योगदान होगा।