समाजवादी पार्टी की डूबती नैया को सवारने मैदान पर उतरेंगे ये दिग्गज...

समाजवादी पार्टी की डूबती नैया को सवारने मैदान पर उतरेंगे ये दिग्गज नेता।

20
0
SHARE

शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि मैं फिरोजाबाद से लोकसभा का चुनाव लड़ूंगा। मैं इसका एलान करता हूं। संजय सक्सेना को रामपुर तथा अनामिका अम्बर कवियत्री को मेरठ से प्रत्याशी घोषित करता हूं।

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने आज शिकोहाबाद के रामलीला मैदान की जनसभा में बड़ा एलान कर दिया।

शिवपाल सिंह यादव ने सुहागनगरी में आज फिरोजाबाद से लोकसभा का चुनाव लड़ने का एलान किया। इसके साथ ही उन्होंने दो और प्रत्याशियों का नाम फाइनल कर दिया।

शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि मैं फिरोजाबाद से लोकसभा का चुनाव लड़ूंगा। मैं इस बात का एलान करता हूं। इसके साथ ही मैं संजय सक्सेना को रामपुर तथा अनामिका अम्बर कवियत्री को मेरठ से प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) का प्रत्याशी घोषित करता हूं।

उन्होंने कहा कि फिरोजाबाद से आप मुझे जिता देना और विरोधियों की जमानत जब्त करा देना। उन्होंने कहा कि जनता चाहती है इसलिये वे फिरोजाबाद सीट से चुनाव लड़ेंगे।

शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि अब मैंने चुनाव मैदान में उतरने की घोषणा कर दी है। अब न तो कोई चाचा है और न ही कोई भतीजा है। अब तो हम प्रतिद्वंदी हैं।

उन्होंने आगे कहा कि पूरे प्रदेश में कोई जिला नहीं है जहां सड़कों का जाल न बिछा हो, नहरें न बनी हों। राजस्व संहिता को दो साल में मैंने लागू कराया था।

किसानों के लिए सब कुछ किया लेकिन आज क्या हो रहा है। 56 इंच का सीना कहां गया, देश की सीमा पर कब्जा होता गया और देश पर कर्ज बढ़ता गया। उन्होंने कहा कि हम सरकार में विकास के काम कर रहे थे।

मैनपुरी में नंबर दो की शराब बिक रही थी, पुलिस गाड़ियां निकलवा रही थी। फिरोजाबाद में जमीनों पर कब्जे हो रहे थे। मैंने विरोध किया तो नेताजी ने साथ दिया।

इस कारण मुझे मंत्रिमंडल से हटा दिया गया। उन्होंने कहा कि मेरी अगुवाई में सारे विपक्षी सपा के बैनर तले आने को तैयार थे। लेकिन नहीं होने दिया गया। शिवपाल बोले कि बीजेपी से कौन मिला था सोचिए? किसने एकजुट नहीं होने दिया। यदि सब एक हो जाते तो राष्ट्रपति भी सपा का होता और सीएम भी।

प्रसपा अध्यक्ष ने कहा कि हम नेताजी के साथ हमेशा थे और रहेंगे। हमने नेताजी को चुनाव लड़ने का प्रस्ताव दिया है। हम उन्हें जिताएंगे। आपने जो प्यार मोहब्बत दिखाया है हम उसे सलाम करते हैं। आपकी बात को ठुकरायेंगे नहीं। उन्होंने आगे कहा कि हमने कभी सोचा नहीं था कि नेता जी के रहते कभी परिवार टूटेगा।

मैंने सपा की रजत जयंती में इकलौते बेटे की कसम खायी थी कि अखिलेश के रहते कभी सीएम नहीं बनूंगा। मैं कुछ नहीं चाहता था बस सम्मान चाहता था। परिवार को एक रखना चाहता था।

शिवपाल ने दुखी होते हुए कहा कि नेताजी और मेरे खिलाफ गन्दा लेटर लिखा गया। रामगोपाल यादव का जिक्र करते हुए कहा कि कभी प्रोफेसर की बात को नहीं टाला, जवाब भी नहीं दिया।

पार्टी बनाने से पहले चार बार दिल्ली गया। मैंने 45 साल तक सपा का झण्डा उठाया, उसे टाइप 6 का बंगला मिला और हम पर भाजपा से जुड़ने का आरोप लगाया।

शिवपाल ने आगे कहा कि अगर आप कहेंगे तो ऐसे सौ बंगले ठुकरा सकता हूं। मैं झोपड़ी में रहा हूं और रह सकता हूं। यदि चुनाव की बात है तो चुनाव लड़ना पड़ेगा।

उन्हें दुखी होते हुए कहा कि मुझे सपा से मलाई चाटने वालों ने निकाला। मैं जनता में रहा और लोग पैसा कमाते रहे। मैंने पहले कहा था कि एक वोट और एक नोट देना पड़ेगा। ये चुनाव आपको लड़ना पड़ेगा।

गठबंधन पर शिवपाल बोले कि मैंने कहा है कि समान विचारधारा की पार्टियां मेरे साथ आ जाएं। सेकुलर पार्टियां एक हो जाएं। मैं गठबंधन को तैयार हूं। शिवपाल ने कहा कि मैं किसानों के हित की बात करना चाहता हूं। पुरानी पेंशन और छात्रवृति की बात करना चाहता हूं।

शिवपाल यादव के भाषण से पूर्व राष्ट्रीय महासचिव व शिवपाल के बेटे आदित्य यादव बोले कि लाल टोपी पहनने से समाजवादी नहीं बनते। जनता की लड़ाई लड़ने वाले समाजवादी होते हैं।

सांसद अक्षय यादव का नाम लिए बगैर बोले कि पांच साल पहले जो जनप्रतिनिधि आपको दिया था उसने फिरोजाबाद में घर तो बहुत बढ़ा बनाया मगर दिल में जगह नहीं बना पाए। यह चाबी आपके नेता के पास है।

विधायक हरिओम यादव ने रामगोपाल और अक्षय पर बोला हमला
सपा विधायक हरिओम यादव ने शिवपाल के मंच से सपा पर हमला बोला। रामगोपाल और सांसद अक्षय यादव पर कहा कि पिता-पुत्र को रावण से ज्यादा अहंकार है, जिसे नष्ट करना है। शिवपाल की रैली थी इसलिए उन्होंने रैली की।

पिता-पुत्र को जनता दरवाजे पर बैठने नहीं दे रही। इनका राजनीति का अंत हो गया। हम नेताजी के कहने पर अक्षय को लाये थे। उन्होंने कहा था कि अक्षय सांसद बन जायेगा तो बीमार प्रोफेसर की उम्र 10 साल बढ़ जाएगी।

उन्होंने कहा कि प्रोफेसर ने नेताजी का अपमान किया, अब जनता बदला लेगी। नेताजी के घर के तीन टुकड़े कर दिए, पार्टी खत्म कर दी। नेताजी ने कहा था कि फिरोजाबाद से इनका काला मुंह कर देना। जिस दिन इनकी विदाई हो जाएगी तो नेताजी के घर भी एकजुट हो जाएगा।

विधायक ने आगे कहा कि बीजेपी की सरकार को गइया और सांड चांट गए। जिस तरह कैकई के कान भरकर मंथरा ने राम को वनवास कराया उसी तरह प्रोफसर ने अखिलेश के कान भरकर शिवपाल को वनवास करा दिया।

मौलाना अंसार ने बसपा मुखिया मायावती को कहा-नागिन
समाजवादी पार्टी के गढ़ माने जाने वाले फिरोजाबाद में आज प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) ने अपना शक्ति प्रदर्शन किया।

इस शक्ति प्रदर्शन में पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव की मौजूदगी में पार्टी के नेता काफी उत्साहित हो गए। इसी उत्साह में मंच से एक मौलाना ने बसपा मुखिया मायावती को लेकर विवादित बयान दिया।

सुहागनगरी फीरोजाबाद के रामलीला मैदान में शिवपाल सिंह यादव समय से काफी विलंब से पहुंचे। शिकोहाबाद के रामलीला मैदान के मंच से जनसभा में हजरत मौलाना अंसार ने विवादित बयान दिया।

उन्होंने कहा कि बसपा मुखिया मायावती तो नागिन हैं, जिसने देश को डस लिया। उन्होंने कहा कि पिछली बार विधानसभा चुनाव में मैंने बसपा का प्रचार किया था। डायन भी एक घर छोड़कर हमला करती है, लेकिन यह तो किसी को नहीं छोड़ती।

मायावती ने तो उससे समझौता कर लिया, जिसके बाप को मायावती ने गुंडा कहा था। वह इतने पर ही नहीं रुके। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी का अध्यक्ष अखिलेश यादव जब अपने बाप का नहीं हुआ वो किसका होगा।

उन्होंने कहा कि जब सपा-बसपा के गठबंधन का पोस्टर बना तो उसमें से मुलायम सिंह यादव की तस्वीर गायब थी। उधर बुआ ने बसपा के संस्थापक कांशीराम की तस्वीर को गायब कर दिया। अब दोनों ठगबंधन बनाकर लोगों को ठग रहे हैं।

मौलाना ने कहा कि शिवपाल सिंह यादव ने अपने भाई मुलायम सिंह यादव को तो अपनी पार्टी के झंडा में जगह दे दी है। पार्टी के हर बैनर व पोस्टर पर मुलायम सिंह यादव की फोटो रहती है।

उन्होंने कहा जिसको शिव ने पाला हो उसको यह नाग नागिन क्या बिगाड़ पाएंगे। हम तो देश के प्रधानमंत्री को भी चैलेंज करते हैं कि यदि मुकाबला करना चाहते हो तो फीरोजाबाद से चुनाव लड़ लो। यूपी का मुसलमान मुलायम के बाद जानता है तो सिर्फ शिवपाल को।