Rajasthan Tape Case: बरसीं मायावती, कहा- गहलोत दगाबाज, लगे राष्ट्रपति शासन

Rajasthan Tape Case: बरसीं मायावती, कहा- गहलोत दगाबाज, लगे राष्ट्रपति शासन

23
0
SHARE

Rajasthan Tape Case: बरसीं मायावती, कहा- गहलोत दगाबाज, लगे राष्ट्रपति शासन

राजस्थान में (​​Rajasthan Political Crisis) मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) और सचिन पायलट (Sachin Pilot) के बीच का घमासान और बढ़ता जा रहा है। अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Government) ने विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाने वाला एक ऑडियो जारी किया है।

इस ऑडियो से सामने आने के बाद अब कांग्रेस विवादों (Congess Controversy) में घिर गई है। बीजेपी (BJP) के बाद मायावती (Mayawati) ने भी कांग्रेस पर हमला बोला है।

राजस्थान (Rajasthan) में चल रहे सियासी संकट के बीच अशोक गहलोत सरकार ने एक ऑडियो टैप (Ashok Gehlot Audio Tape Case) जारी किया है। इस ऑडियो टैप कांड को लेकर सियासत गरमाने (Rajasthan Political Crises) लगी है।

भारतीय जनता पार्टी के बाद अब बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने कांग्रेस (Mayawati Attacks on Congress) को निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा है कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने फोन टेक कराकर असंवैधानिक काम किया है। इतना ही नहीं उन्होंने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है।

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए एक के बाद एक दो ट्वीट किए। उन्होंने इस ट्वीट के जरिए कांग्रेस को दगाबाज बताया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने दूसरी बार उनके साथ दगाबाजी की है।

अपने पहले ट्वीट में मायावती ने लिखा, ‘जैसाकि विदित है कि राजस्थान के मुख्यमंत्री गहलोत ने पहले दल-बदल कानून का खुला उल्लंघन व बीएसपी के साथ लगातार दूसरी बार दगाबाजी करके पार्टी के विधायकों को कांग्रेस में शामिल कराया और अब जग-जाहिर तौर पर फोन टैप कराके इन्होंने एक और गैर-कानूनी व असंवैधानिक काम किया है।’

‘राज्यपाल करें राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश’
मायावती ने लगातार दो ट्वीट किए। दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘इस प्रकार, राजस्थान में लगातार जारी राजनीतिक गतिरोध, आपसी उठा-पठक व सरकारी अस्थिरता के हालात का वहां के राज्यपाल को प्रभावी संज्ञान लेकर वहां राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश करनी चाहिए, ताकि राज्य में लोकतंत्र की और ज्यादा दुर्दशा न हो।’

संबित पात्रा ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस

शनिवार को ऑडियो टैप के मामले में संबित पात्रा ने भी कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, सोनिया गांधी और राहुल गांधी पर कई सवाल दागे। पात्रा ने राजस्थान सरकार सीना तान कर कह रही है कि ये ऑडियो टैप पूरी तरह सही है। ऐसे में उन्हें यह बताना चाहिए कि क्या राजस्थान में राजनैतिक पार्टियों के लोगों के ऑडियो टैप किए जा रहे है ?। पात्रा ने ऑडियो टैपिंग पर घेरते हुए उसके स्टण्डैड ऑपरेटिंग प्रोसिजर (एसओपी ) को फॉलो करने पर भी मुख्यमंत्री गहलोत से सवाल किए ।

राजस्थान के इस ऑडियो क्लिप में कथित तौर पर कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक भंवर लाल शर्मा व भाजपा के एक नेता संजय जैन की आवाज होने का दावा किया जा रहा है। सुरजेवाला ने ऑडियो टैप में कही गई बातों का जिक्र करते हुए बताया कि इसमें साफ तौर से कहा जा रहा है कि सरकार गिरानी है। इस ऑडियो में भंवरलाल कह रहे हैं अमाउंट की बात हो गई है। हालांकि विधायकों की संख्या को लेकर बातचीत में संशय बात कही जा रही है।