कम से कम सुप्रीम कोर्ट तो राफेल डील पर सवाल ना उठाए...

कम से कम सुप्रीम कोर्ट तो राफेल डील पर सवाल ना उठाए – रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण।

37
0
SHARE

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि हम अदालत के हर आदेश का पालन करेंगे। सुप्रीम कोर्ट ने राफेल डील को लेकर कोई सवाल नहीं उठाए हैं।

राफेल डील पर आए सुप्रीम कोर्ट के ताजा फैसले को लेकर विपक्षी दलों द्वारा सरकार को घेरे जाने के बीच रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को कहा कि हम अदालत के हर आदेश का पालन करेंगे।

इस मामले में केवल चुनिंदा चीजें ही लीक की गई हैं। उन्‍होंने यह भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने ‘राफेल डील’ को लेकर कोई सवाल नहीं उठाए हैं।

रक्षा मंत्री ने राहुल गांधी के बयान पर निशाना साधते हुए कहा कि ऐसा लगता है कि जो व्‍यक्ति खुद जमानत पर है, उसे आदालत के फैसले की गलत व्‍याख्‍या करने का अधिकार मिल गया है।

हम सब जानते हैं कि कांग्रेस के अध्यक्ष आधा पैराग्राफ भी नहीं पढ़ पाते हैं। इसके साथ उनका यह कहना कि ‘चौकीदार चोर है’, कोर्ट की अवमानना है।

उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति खुद जमानत पर है, उसे किसने अधिकार दिया है कि वह कोर्ट के फैसले की गलत व्याख्या करे। कांग्रेस पार्टी के अध्‍यक्ष ने शीर्ष अदालत की अवमानना की है। राहुल ने राफेल मामले में सारी हदें पार कर दी हैं।

बता दें कि राफेल डील पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को केंद्र सरकार को तगड़ा झटका दिया। सुप्रीम कोर्ट ने मामले में सरकार की आपत्तियों को खारिज कर दिया।

साथ ही कोर्ट ने पुनर्विचार याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए राफेल डील से संबंधित तीन दस्तावेजों को सबूत के तौर पर स्वीकार करने की अनुमति प्रदान कर दी।

अब सुप्रीम कोर्ट इन दस्तावेजों के आधार पर पुनर्विचार याचिका पर आगे की सुनवाई करेगा। मामले में रक्षा मंत्रालय ने भी बयान जारी कर अपना पक्ष रखा है।

रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि याचिकाकर्ता राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा से संबंधित दस्तावेजों को आधी-अधूरी और चुनिंदा तस्वीर पेश कर रहे हैं।

याचिकाकर्ताओं द्वारा प्रस्तुत किए गए दस्तावेज यह बताने में विफल रहे हैं कि मुद्दों को कैसे लिया गया, कैसे उनका हल किया गया और कैसे अधिकारियों से आवश्यक अनुमति ली गई। याचिकाकर्ताओं द्वारा प्रस्तुत किए गए सबूत और रिकॉर्ड अधूरे और एकमात्र पक्ष दिखाने वाले हैं।