ताज़ा खबर : बिहार में हुई अब तक की सबसे बड़ी रेल...

ताज़ा खबर : बिहार में हुई अब तक की सबसे बड़ी रेल दुर्घटना, जानिए इस खबर के बारे में।

31
0
SHARE

बिहार में बड़ा रेल हादसा हुआ है। दिल्‍ली जा रही सीमांचल एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्‍त हो गई, जिसमें छह यात्रियों के मारे जाने की पुष्टि हुई है। दुर्घटना का कारण पटरी टूटा होना है।

बिहार के वैशाली जिले में रविवार तड़के बड़ा रेल हादसा हो गया। जोगबनी से दिल्ली के आनंद विहार जा रही सीमांचल एक्सप्रेस सहदेई बुजुर्ग के पास पटरी से उतर गई। हादसे में अब तक छह लोगों के मरने की पुष्टि रेल प्रशासन ने की है।

दुर्घटना में 40 यात्री घायल बताए जा रहे हैं। दुर्घटना टूटी पटरी पर ट्रेन के गुजरने के कारण हुई। ऐसे में तोड़फोड़ की आशंका से इनकार नहीं किया सकता। दुर्घटना को लेकर रेलवे ने हेल्‍पलाइन नंबर जारी किए हैं।

दुर्घटना के बाद राहत व बचाव कार्यों को लेकर रेल मंत्री पीयूष गोयल लगातार रेलवे बोर्ड के संपर्क में हैं। उन्‍होंने रेल यात्रियों की मौत पर संवेदना प्रकट की है।

साथ ही घायलों के शीघ स्‍वस्‍थ होने की कामना की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने भी इस दुखद घटना को लेकर शोक प्रकट किया है।

जानकारी मिलते ही केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान घटनास्‍थल पर पहुंचे। दुर्घटना को दुखद बताया। उन्‍होंने अधिकारियों से बात कर उन्‍हें कई तरह के निर्देश दिए। कहा कि लोगों को किसी प्रकार की प्रॉब्लम नहीं हो।

वहीं रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव भी मौके पर पहुंचे। अधिकारियों से बात की। वे काफी देर तक मौके पर मौजूद रहे और राहत कार्यों की मॉनिटरिंग करते रहे।

मिली जानकारी के अनुसार ट्रेन तड़के 3.52 बजे मेहनर रोड से गुजरी थी। इसके बाद करीब 3.58 बजे सहदेई बुजुर्ग के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई। रेलवे के अनुसार दुर्घटना का कारण पटरी का टूटा होना था। ट्रेन के 11 डिब्बे पटरी से उतर गए।

इनमें से तीन स्लीपर (एस-8, एस-9 और एस-10) हैं। एक जनरल कोच और एक एसी कोच (बी-3) शामिल हैं। हादसे में एक डिब्बा तो पूरी तरह पलट गया।

हादसे के बाद सहदेई बुजुर्ग स्टेशन पर एनडीआरएफ टीम पहुंची गई। क्रेन की मदद से ट्रेन के डिब्बों को काटकर यात्रियों को निकाला गया। सूचना मिलने पर वैशाली डीएम राजीव रौशन और एसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो भी पहुंचे। हालांकि, राहत व बचाव में विलंब के कारण भड़के लोगों ने पथराव भी किया। सुरक्षा बलों ने मुश्किल से स्थिति को नियंत्रित किया। ,

मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख मुआवजा की घोषणा
रेल मंत्रालय ने मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की गई है। गंभीर घायलों को एक लाख तथा अन्‍य घायलों को 50 हजार रुपये के मुआवजे का ऐलान किया गया है।

मरने वालों के बिहार व पश्चिम बंगाल के तीन-तीन की पहचान
मरने वालों में खगड़िया के तीन तथा पश्चिम बंगाल के तीन यात्रियों की पहचान कर ली गई है। मृतक सुदर्शन दास (60), इलचा देवी (66) और इंदिरा देवी (60) बिहार के खगड़िया के रहने वाले थे, जबकि शायदा खातून (40), अंसार आलम (19) और शमशुद्दीन आलम (26) पश्चिम बंगाल के रहने वाले थे। एक अन्‍य शव की पहचान अभी तक नहीं की जा सकी है।

इस बीच रेलवे ने हेल्‍पलाइन नंबर जारी कर दिए हैं। राहत बचाव कार्य के लिए सोनपुर और बरौनी से ART टीम को रवाना कर दिया गया है। हादसे के बाद बछवाड़ा-हाजीपुर सिंगल लाइन पर परिचालन रद कर दिया गया है।

दुर्घटना के संबंध में जानकारी लेने के लिए पूर्व मध्य रेल ने हेल्पलाईन नंबर जारी किए हैं। इन नंबरों पर फोन कर पीड़ितों के बारे जानकारी ली जा सकती है।

पटना- 06122202290, 06122202291, 06122202292, 06122213234
सोनपुर- 06158-221645
हाजीपुर- 06224-272230
बरौनी- 06279-23222
कटिहार- 9473198026

उधर कुछ लोगों ने शिकायत की है कि हेल्‍पलाइन नंबर ठीक से काम नहीं कर रहा है। कई नंबरों पर रिंग करने के बाद भी कॉल नहीं लग रहा है।