दिल्ली को देखते हुए बेंगलुरु में भी हुई बड़ी कार्यवाही।

दिल्ली को देखते हुए बेंगलुरु में भी हुई बड़ी कार्यवाही।

35
0
SHARE

जिस प्रकार दिल्ली में पर्यावरण को बचाने और बढ़ते हुए ट्रैफिक से निजात पाने के लिए दिल्ली सरकार ने काफी समय पहले एक ठोस कदम उठाया था।

जिसके तहत यह बताया गया था कि 20 साल से ज्यादा पुरानी गाड़ियां पूरी तरह से बंद हो जाएंगी। ठीक उसी प्रकार पर्यावरण बचाने और ट्रैफिक से छुटकारा दिलाने के लिए दिल्ली के बाद अब बेंगलुरु में भी 20 साल से ज्यादा पुरानी गाड़ियों पर बैन लग सकता है।

उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर ने ट्रैफिक पुलिस और सिटी पुलिस के सीनियर अधिकारियों से ऐसी गाड़ियों को बैन करने के फैयदे और नुकसान पर रिपोर्ट मांगी है। ट्रैफिक और प्रदूषण बेंगलुरु की सबसे बड़ी समस्या हैं।

उपमुख्यमंत्री ने बुधवार को इस मामले पर बात करने के लिए सीनियर पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में प्रदूषण और ट्रैफिक की समस्या से निजात पाने के लिए योजना पर चर्चा की गई। इस दौरान दिल्ली की तरह ऑड-ईवन रूल लागू करने पर भी बात की गई।

वही इस मामले पर रोशनी डालते हुए मौजूदा अधिकारियों ने बताया कि बेंगलुरु में जून 2018 तक कुल 75,66,103 रजिस्टर्ड गाड़ियां हैं। सूत्रों के मुताबिक ट्रैफिक व्यवस्था सुधारने के लिए शहर में विरोध प्रदर्शनों पर भी रोक लगाई जा सकती है।

2017 में 365 दिनों में 483 बड़े विरोध प्रदर्शन हुए थे। इन प्रदर्शनों में हजारों लोगों ने हिस्सा लिया था, जिससे ट्रैफिक व्यवस्था पर काफी असर पड़ा था।