मणिशंकर अय्यर ने फिर किया भारतीय प्रधानमंत्री पर हमला।

मणिशंकर अय्यर ने फिर किया भारतीय प्रधानमंत्री पर हमला।

71
0
SHARE

अपने द्वारा दिए गए बयानों के लिए प्रसिद्ध कांग्रेस के पूर्व नेता मणिशंकर अय्यर ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर एक विवादित बयान दिया है।

इससे पहले उन्होंने गुजरात चुनाव के समय भी पीएम के खिलाफ अभद्र शब्द इस्तेमाल किए थे। इसके बाद पीएम मोदी ने उनके शब्दों को ही पूरे गुजरात चुनाव के दौरान प्रचार में इस्तेमाल किया था।

अय्यर नेे यह इंडिया इंटरनेशनल सेंटर मेें असहिष्णुता पर अायोजित कार्यक्रम मेंं दिया। अक्सर भाजपा और पीएम मोदी को लेकर तीखे बयान देने वाले मणिशंकर अय्यर के इस बयान पर भी बवाल मचना तय है।

कुछ ऐसा ही नजारा गुजरात के विधानसभा चुनावों के दौरान देखने को मिला था। चुनावी रैलियों में प्रधानमंत्री के द्वारा गलत बयानबाज़ी करने को लेकर मणिशंकर अय्यर ने उन्हें नीच इंसान कहा था।

अय्यर के इस बयान का एक बार फिर पीएम मोदी ने चुनावी रैलियों में भरपूर फायदा उठाया और गुजरात तथा हिमाचल की सत्ता पर कब्ज़ा किया|

अय्यर के एक बयान से बदल गई थी भाजपा की चुनावी रणनीति
मणिशंकर अय्यर ने 2014 के अाम चुनाव से पहले कहा था कि मैं आपसे वादा करता हूं कि 21वीं सदी में नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री कभी नहीं बन पाएंगे।

लेकिन अगर वो यहां आकर चाय बेचना चाहते हैं, तो हम उन्हें इसके लिए जगह दिला सकते हैं। अय्यर के इस बयान का मोदी ने भरपूर फायदा उठाया और पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता पर काबिज हुए और पीएम बने।

वही पिछली बातों पर गौर करें तो मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 2002 के गुजरात दंगाें को लेकर दिए गए बयान को याद किया है।

मणिशंकर अय्यर ने कहा, मैंने नहीं सोचा था कि 2014 से एक सीएम जो मुसलमानों को पिल्ला समझता है, वह पीएम बनेगा। जब उनसे पूछा गया कि आपको उस घटना का दुख है।

उन्होंने कहा था कि एक पिल्ला भी गाड़ी के नीचे आ जाए तो दिल में चोट लगती है। मैंने सोचा कि जिस आदमी ने ऐसा कहा, जो दंगों के 24 दिन तक मुस्लिमों के कैंप में नहीं गया।

अहमदाबाद मस्जिद उस दिन पहुंचा जब पीएम वाजपेयी आए। उस दिन जाना मजबूरी थी। मैंने सोचा ही नहीं था कि ऐसा व्यक्ति देश का प्रधानमंत्री बन सकता है।

मणिशंकर अय्यर के अन्य विवादित बयानों की सूची कुछ इस प्रकार है कि दिसंबर 2013 में अय्यर ने नरेंद्र मोदी को ‘जोकर’ बताया और कहा, चार-पांच भाषण देकर उन्होंने बता दिया है कि कितने गंदे-गंदे शब्द उनके मुंह में हैं।

ठीक इसी साल उन्होंने यह भी कहा था कि मार्च 2013 को जब नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस पार्टी को ‘दीमक’ बुलाया तो अय्यर ने कहा, मोदी ने हमें दीमक बुलाया है, तो मैं तो कहता हूं कि वो एक सांप हैं, बिच्छू हैं।

2014 मेंं अय्यर ने कहा कि मैं आपसे वादा करता हूं कि 21वीं सदी में नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री कभी नहीं बन पाएंगे, लेकिन अगर वो यहां आकर चाय बेचना चाहते हैं, तो हम उन्हें इसके लिए जगह दिला सकते हैं।

2015 में अय्यर ने कहा था कि भारत और पाकिस्तान के रिश्तों को मजबूत करने के लिए मोदी को हटाना होगा, नहीं तो वार्ता आगे नहीं बढ़ेगी।

2017 में मणिशंकर ने कहा कि पीएम मोदी नीच किस्म के हैं। अय्यर का बयान सामने आने के कुछ ही देर बाद सियासी घमासान शुरू हो गया था।

2017 में मणिशंकर अय्यर ने कहा कि हथियार उठाकर गलत नहीं करते कश्मीरी युवक, भाजपा के लोग उन्हें मजबूर करते हैं।